Matthew
मत्ती रा सुसमाचार
भूमिका
मत्ती रचित सुसमाचार यह शुभ संदेश दिन्दा कि यीशु मसीह ही सो उध्दारकर्ता हा जसेरै इणै री भविष्यवाणी करी गछुरी थी। प्रमात्में पुराणै नियम मन्ज हजारा साल पैहलै अपणै मणु सोगी करूरै वायदै जो तैस ही उध्दारकर्ता रै रूपा मन्ज पूरा करूआ। यह शुभ संदेश सिर्फ यहूदी मणु तांये ही ना हा, जिन्या मन्ज यीशु पैदा भुआ, अतै जम्मु पल्ळू, पर संसारा तांये हा। मत्ती रचित सुसमाचार जो बड़ी ही सावधानी सोगी ठीक तरीकै लिखुरा हा। ठेरी शुरूआत यीशु मसीह रै जन्म थंऊ ही भून्दिआ। फिरी तसेरै बपतिस्मा अतै परीक्षा रा वर्णन हा, अतै गलील पद्रेसा मन्ज प्रचार, शिक्षा अतै चंगा करनै रा वर्णन हा। ऐत थंऊ बाद ऐस सुसमाचारा मन्ज यीशु री गलील थंऊ यरूशलेम तक री यात्रा अतै यीशु री जिन्दगी रै लास्ट हप्तै री घटना रा वर्णन हा, जठेरी पराकाष्ठा तैसियो क्रूस पुर चढाया गाणा अतै तसेरा दोवारा मरी की जी भूणा हा।
ऐस सुसमाचार मन्ज यीशु जो अक्क महान गुरू रै रूपा मन्ज प्रस्तुत करूरा हा। तैसिओ प्रमात्में री व्यवस्था री व्याख्या करनै रा अधिकार हा अतै सो प्रमात्में रै राज्य री शिक्षा दिन्दा हा। तसेरी शिक्षा जो पंजा हेस्सै मन्ज बन्डी सकदै हिन्न : (1) पहाड़ी उपदेश, जैड़ै स्वर्ग राज्य रै नागरिका रै चरित्र, कर्तव्य, विशेषाधिकार अतै लास्ट उम्मीदा सोगी सम्बध रखदा हा (अध्याय 5-7); (2) बारह चेलै रै सेवाकार्य तांये शिक्षा दिणा (अध्याय 10); (3) स्वर्गा रै राज्य सोगी सम्बन्धित दृष्टान्त (अध्याय 13); (4) चेलै वनणै री शिक्षा (अध्याय 18); अतै (5) स्वर्ग-राज्य रै आगमन अतै वर्तमान युग रै अन्त सोगी सम्बन्धित शिक्षा (अध्याय 24,25)।
रूप-रेखा :
वंशावली अतै यीशु मसीह रा जन्म 1:1–2:23
यूहन्ना बपतिस्मा दिणैवाळै रा सेवाकार्य 3:1–12
यीशु रा बपतिस्मा अतै परिक्षा 3:13–4:11
गलील मन्ज यीशु री जनसेवा 4:12–18:25
गलील थंऊ यरूशलेम तक यात्रा 19:1–20:34
यरूशलेम मन्ज लास्ट हप्ता 21:1–27:66
प्रभु यीशु रा पुनरूत्थान अतै तसेरा हुजणा 28:1—20