जूहन्‍ना
लिखलोर नंगत खबर
बचन माने-रूप धरली
1
1 मूर ने बचन रये, आउर बचन महापरभु संगे रये, आउर बचन महापरभु रये।
2 एई, मूर ने महापरभु संगे रये।
3 जमाय तीज हुनचेई बाटले उबजलीसे आउर जोन बले उबजलीसे, हुनमन ले कोनी बले तीजमन हुनचो नोहलोर नी उबजलीसे।
4 हुनचोने जीव रये आउर हुन जीव, मनुकमन चो उजर रये।
5 उजर अंधार ने बरेसे; आउर अंधार, उजर के जीतुक नी सकली।
6 महापरभु बाटले गोटोक मनुक ईलो, जेचो नाव जूहन्‍ना रये।
7 हुन उजर चो बारे ने गवई देतो काजे ईलो। एईकाजे कि सपाय हुनचो बाटले उजर के सतपतेयाओत।
8 हुन खुदे हुन उजर नी रये, मानतर हुन उजर चो गवई देउक एउन रये।
9 सत उजर, जोन जमाय मनुक के गियान चो उजर देयसे, संवसार ने एतोर रली।
10 मंजपुर हुनचो बाटले उबजली, आउर हुन मंजपुर ने रलो, मानतर संवसार चो लोगमन हुनके नी चिताला।
11 हुन आपलो घरे ईलो मानतर हुनचो खुद चो लोग हुनके नी मानला।
12 मानतर जोनमन बले हुनके मानला, हुन सपाय के महापरभु चो बेटा-बेटी होतो हक दिलो बललोने, जोनमन हुनचो नाव के पतेयायसोत।
13 हुनमन लोउ ले नोहले देहें चो इछा ले नोहले मनुक चो मन-इछा ले नी जनमलासोत मानतर महापरभु चो मन ले ची जनमलासोत।
14 बचन माने-रूप धरुन दया आउर सत ले भरपुर होउन आमचो मंजिगता रये, आउर आमी हुनचो असन मयमा-उजर के दखलु, जसन बुआ चो गोटकी ची बेटा चो मयमा-उजर।
15 जूहन्‍ना हुनचो काजे गवई दिलो आउर किरकिरुन बललो, ए हुनी आय, जेचो बारे ने मय सांगुन रये। जोन मोचो पाटकुती एयसे, हुन मोचो ले बड़े आय। कसनबलले हुन मोचो ले बले आगे ले आसे।
16 कसनबलले हुनचेई भरपुर ले आमी सपाय, दया उपरे दया पावलुसे।
17 नियम-कानुन तो मोसा बाटले दिलोर आसे; मानतर दया आउर सत, जीसु किरिस्‍त बाटले मिरलीसे।
18 महापरभु के कोनी केबई बले नी दखलासे; मानतर हुनी, गोटकी ची बेटा जोन बुआ लगे आसे, महापरभु के आमके दखालोसे।
बपतिस्‍मा देतो बीता जूहन्‍ना चो गवई
19 जूहन्‍ना चो गवई ए आय, जिदलदांय जहूदी मुखियामन, जरूसलेम ले पुजारीमन आउर लेवी बंस चो लोगमन के, हुनके ए पूछतो काजे पठाला, “तुय कोन आस?”
20 तेबे हुन दुक-पुछ नी करुन मानलो, “मय किरिस्‍त नोआंय।”
21 तेबे हुनमन, हुनके पूछला, “तेबे फेर कोन आस? काय तुय एलिया आस?” हुन बललो, “मय नोआंय”; “काय तुय हुन अगमजानी आस?” हुन बललो, “नोआंय।”
22 तेबे हुनमन हुनके पूछला, “फेर तुय कोन आस? कसनबलले आमी आमके पठालो लोगमन के सांगुंदे, तुय आपन के काय बलसीस?”
23 हुन बललो, जसन जसाया अगमजानी सांगुन रये,
“मय चिमचामनाय राने गोटोक हागदेतो बीता चो राग आंय:
‘तुमी परभु चो बाट के सलक बनावा।’”
24 जोनमन के फरीसीमन बाटले पठाउन रओत,
25 हुनमन जूहन्‍ना के पूछला, “तुय किरिस्‍त नोआस, एलिया आउर हुन अगमजानी बले नोआस जाले, फेर कसन ने बपतिस्‍मा देयसीस?”
26 जूहन्‍ना हुनमन के बललो, “मय तो पानी ले बपतिस्‍मा देयंसे; मानतर तुमचो मंजिगता गोटोक मनुक आसे, जेके तुमी नी जानास
27 बललोने, मोचो पाछे जोन एयदे, हुनचो पनई-डोरी के ढीलतो लाईक बले मय नोआंय।”
28 ए गोटमन जरदन नंदी चो हुन पाट चो बेतनिया गांव ने घटली जोन थाने जूहन्‍ना, बपतिस्‍मा देते रये।
जीसु, महापरभु चो मेंडा
29 दुसर दिने, जीसु के आपलो बाटे एतोके दखुन जूहन्‍ना बललो, “दखा, ए महापरभु चो मेंडा आय, जोन संवसार चो पाप के बोउन जायसे।
30 ए हुनी आय, जेचो गोट मय सांगुन रयें कि गोटोक मनुक मोचो पाछे एयसे, जोन मोचो ले बड़े आय, कसनबलले हुन मोचो ले बले आगे ले आसे।
31 मय हुनके नी चिताउन रये, मानतर मय पानी ले बपतिस्‍मा, एईकाजे देते रये कि इसराएल चो लोगमन के हुन दखा देओ।”
32 जूहन्‍ना असन गवई दिलो, “मय आत्‍मा के परेंया असन बादरी ले उतरतो के दखलेसे आउर हुन जीसु चो उपरे ठेबलीसे।
33 मय हुनके नी चिताउन रयें, मानतर जोन मोके पानी ले बपतिस्‍मा देतो काजे पठालो, हुनी मोके बललो, ‘जेचो उपरे आत्‍मा उतरुन ठेबतोके तुय दखसे, हुनी पवितर आत्‍मा ले बपतिस्‍मा देतो बीता आय।’
34 मय हुनके दखले आउर गवई दिलेसे कि एई महापरभु चो बेटा आय।”
जीसु चो चेलामन
35 दुसर दिने जूहन्‍ना आउर हुनचो चेलामन ले दुयझन हुता उबा होउ रओत।
36 तेबे हुन, जीसु के जातो के दखुन बललो, “दखा, ए महापरभु चो मेंडा आय।”
37 जूहन्‍ना चो ए गोट के सुनुन हुन दुयझन चेलामन जीसु चो पाट-पाट गेला।
38 जीसु उलटुन हुनमन के पाट-पाट एतोके दखुन पूछलो, “तुमी कोके डगरायसाहास?” हुनमन हुनके बलला, “ए गुरुजी, तुय कोन थाने रउआस?” जीसु हुनमन के बललो, “जो, तेबे तो दखासे।”
39 तेबे हुनमन जाउन हुनचो रतो ठान के दखला, आउर हुन दिने हुनचेई संगे रला। हुदलदांय अड़उ पाहार होउन रये।
40 जोनमन जूहन्‍ना चो गोट के सुनुन जीसु चो पाट-पाट गेला, हुनमन ले एक झन समोन पतरस चो भाई अंदरियास रये।
41 हुन आगे आपलो खुद चो भाई समोन के भेटुन हुनके बललो, “आमी किरिस्‍त के भेटलुसे।”
42 अंदरियास हुनके जीसु लगे आनलो; जीसु हुनके दखुन बललो, “तुय जूहन्‍ना चो बेटा समोन आस, तुके कयफा बललोने, पतरस बलदे।”
जीसु, फिलिपुस आउर नतनएल के हागदेयसे
43 दुसर दिने जीसु, गलील राज ने जाउक मन करलो आउर फिलिपुस के भेटुन बललो, “मोचो पाट-पाट आव।”
44 फिलिपुस बले अंदरियास आउर पतरस चो सहर बेतसयदा चो रतो बीता रये।
45 फिलिपुस, नतनएल के भेटुन बललो, “जेचो गोट के मोसा नियम-कानुन चो किताप ने आउर अगमजानीमन लिखुन रओत, हुनके आमी भेटलुसे, हुन नासरतेया जूसुफ चो बेटा जीसु आय।”
46 नतनएल, फिलिपुस के बललो, “काय कोनी नंगत तीज नासरत ले निकरुक सके?” फिलिपुस हुनके बललो, “जाउन दख।”
47 जीसु, नतनएल के आपलो बाटे एतोके दखुन हुनचो काजे बललो, “दखा, ए सते इसराएली आय, एचोने कपट नीआय।”
48 नतनएल हुनके बललो, “तुय मोके कसन ने जानीस?” जीसु हुनके बललो, “फिलिपुस तुके हागदिलो ले आगे, जिदलदांय तुय अंजीर रूक खाले रयीस, तेबे मय तुके दखुं रये।”
49 नतनएल हुनके बललो, “ए गुरुजी, तुय महापरभु चो बेटा आस; तुय इसराएल चो बड़े राजा आस।”
50 जीसु हुनके बललो, “मय तुके अंजीर रूक चो खाले दखलेसे बलले, काय, तुय एईकाजे पतेयायसीस? तुय एचोले बड़े-बड़े काम दखसे।”
51 फेर जीसु बललो, “मय तुके सते सांगेंसे कि तुय सरग के उगाड़लोर आउर महापरभु चो सरगदूतमन के, मनुक चो बेटा उपरे उतरतो के आउर उपरे जातो के दखसे।”